द्रव अपना तल स्वयं कैसे ढूँढ लेता है? - How does the fluid find its own surface?

द्रव अपना तल स्वयं कैसे ढूँढ लेता है? – How does the fluid find its own surface?

द्रव अपना तल स्वयं कैसे ढूँढ लेता है? – How does the fluid find its own surface? पानी जमीन को कैसे ढूंढ लेता है।(Paani Zameen ko kaise dhund leta hai).

द्रव अपना तल स्वयं कैसे ढूँढ लेता है?

द्रव अपना तल स्वयं ढूँढ लेता है-यह दिखाने के लिए एक ऐसा बर्तन लेते हैं जिसमें विभिन्न आकृतियों वाले कई बर्तन आपस में जुड़े हों (चित्र 2.9) । इसमें कोई द्रव डालने पर यह देखा जाता है कि सभी बर्तनों में द्रव का तल समान ऊँचाई पर रहता है । यह ऊँचाई बर्तन की आकृति पर निर्भर नहीं करती। इसका कारण यह है कि जुड़े हुए बर्तनों का नीचे का तल एक-ही क्षैतिज तल में है तथा एक-ही क्षैतिज तल में सभी बिन्दुओं पर दाब समान होता है क्योंकि द्रव का दाब स्वतन्त्र तल से गहराई पर निर्भर करता है,अतः क्षैतिज तल में समान दाब डालने के लिए प्रत्येक बर्तन में द्रव के तल की ऊँचाई समान होगी, अतः हम यह कह सकते हैं कि द्रव अपना तल स्वयं ढूँढ लेता है।

द्रव अपना तल स्वयं कैसे ढूँढ लेता है?
द्रव अपना तल स्वयं कैसे ढूँढ लेता है?

You may also like.